बारिश के मौसम की दर्द भरी शायरी barish sad shayari

 बारिश दर्द शायरी barish sad shayari in hindi


barish sad status



Tumhe barish pasand hai Mujhe 
Barish me tum 
Tumhe hasna pasand hai Mujhe 
Haste hua tum
Tumhe bolna pasand hai Mujhe
Bolte hua tum
Tumhe sab kuch pasand hai Aur
Mujhe bus tum... 

ये सर्द हवाएं ये भीगी रातें ये बरसाते 
तुम्हारे सोए अरमान क्यों नहीं जगाते
मैं बाहे खोलकर खड़ा हूं बारिश में
तुम आकर गले क्यों नहीं लग जाती। 


Woh barish ki tarah barasti hai mujh par
Mai kuch din tk sila rahta hoon
Aur usse bichhadne ke baad ye kaise 
Nishani di hai khuda tune... 
Ab chehre se muskurate hoon aur 
Ankhon se gila rahta hu....
 

बारिश शायरी रोमांटिक इन हिंदी barish romantic shayari


हमारे शहर आ जाओ हमेशा बरसात रहती है यहां
कभी बादल बरसता है तो कभी आंखें

Mausam hai Barish ka aur yaad
Tumhare aate hai
Barish ke har ek katre se abaaj 
Tumhare aate hai
Badal jb bhi garajte hai toh dil ki
Dhadkan bad jate hai
Aur dil ke har ek dhadkan se Abaaj 
Tumhare aate hai.... 

पहली बारिश में अक्सर याद आता है 
पहला प्यार.... 
सोचता हूं कि क्या उसे भी यह बारिश 
मेरी याद दिलाती होगी
मैं जानता हूं आज मैं भले ही उसके 
पास नहीं हूं
पर क्या मुझे महसूस करने के लिए वह 
बारिश में नहाती होगी..... 

बारिश में याद शायरी barish miss you shayari


barish heart touching shayari



Aye barish jara tham ke barsh 
Jb mera yaar ajaye toh jam ke barsh
Pahle naa barsh ki vo aa naa sake
Fir itna barsh ki woh jaa na sake... 

आज हल्की हल्की बारिश है और सर्द 
हवा का रक्स भी है
आज फूल भी बिखरे बिखरे हैं और इनमें 
तेरा अक्स भी है
आज बादल गहरे गहरे हैं और चांद पर 
लाखों पहरे हैं 
कुछ टुकड़े तुम्हारी याद के इस दिल में 
बहुत देर से ठहरे है
इस दिल पर तुम यू छाए हो आज याद बहुत 
तुम आए हो..... 


Kitne jaldi zindagi gujar jate hai
Pyaas bhujte nhi barsaat chale jate hai
Tere yaad kuch iss tarah aate hai
Nind aate nhi magar raat gujar jate hai

बारिश की बूंदों में झलकती है तस्वीर तेरी
आज फिर भीग बैठे हैं तुम्हें पाने की चाहत में

barish heart touching shayari बारिश की दिल छूने वाली शायरी


barsaat ke mausam ki shayari



Badalon ka Gunha nhi ki woh 
Barshte hai
Dil halka karne ka haq toh sabhi 
Ko hai... 

प्यार और बारिश दोनों एक जैसे होते हैं
जो हमेशा यादगार होते हैं... 
और सिर्फ इतना होता है बारिश जिस्म
भिगोती है और प्यार आंखें भिगो देते हैं

बरसात के मौसम की शायरी, बेमौसम बारिश शायरी love


Pata hai mujhe barish kyu 
Pasand hai
Kyoki ye barshti hai udaas
Logo ke liye... 

तेरे साथ बारिश में भीगने का ख्वाब 
आज भी अधूरा है... 
जब भी बारिश होती है तो बाहें फैलाकर
तुझे महसूस कर लेता हूँ। 

Pahle Barish hote the toh yaad 
Aate the tum
Ab jab yaad aate hoo
Toh barish hote hai..... 

ना जाने क्यों लोग ऐसा काम कर जाते है
बिना आहट के ना जाने कितने लोग मर जाते हैं
नींद आये भी तो आये कैसे.... 
ये यादों के सैलाब आँखों को नशीला कर जाते है
एक तो ये मौसम बारिश का जहाँ सुखते नहीं 
कपड़े भी..... 
और ये कमबख्त रोज आँसू तकिये भिगो जाते हैं



Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.